शिकवा

० शिकवा ०

गर चाहे कोई शिकवा करना.....
तब भी सुना है पत्थरों से शिकायत नहीं होती...

० जोगेन्द्र सिंह ०
.

शिकवाSocialTwist Tell-a-Friend

Comments

4 Responses to “शिकवा”

सदा said...
22 May 2012 at 3:21 PM

बेहतरीन ।

कल 23/05/2012 को आपकी इस पोस्‍ट को नयी पुरानी हलचल पर लिंक किया जा रहा हैं.

आपके सुझावों का स्वागत है .धन्यवाद!


... तू हो गई है कितनी पराई ...

Asha Saxena said...
23 May 2012 at 5:59 AM

बहुत भावपूर्ण |आशा

Reena Maurya said...
23 May 2012 at 1:14 PM

एकदम सही बात..
सुन्दर ...

Post a Comment

Note : अपनी प्रतिक्रिया देते समय कृपया संयमित भाषा का इस्तेमाल करे।

▬● (my business sites..)
[Su-j Health (Acupressure Health)]http://web-acu.com/
[Su-j Health (Acupressure Health)]http://acu5.weebly.com/
.

Related Posts with Thumbnails