यूँ न कहते तो


यूँ न कहते तो ©

यूँ तो हर अंदाजे बयाँ है काबिल-ऐ-तारीफ तुम्हारा,

गर यूँ न कहते तो जाने किस तरह कह जाते तुम,

हम तो बैठे थे तैयार बनने को राजदार तुम्हारे लिए,

एक तुम ही थे जो गिला ज़माने का किये जाते थे...

जोगेन्द्र सिंह Jogendra Singh (29-12-2011)
http://web-acu.com/
.
यूँ न कहते तोSocialTwist Tell-a-Friend

Comments

One response to “यूँ न कहते तो”

31 August 2012 at 10:31 AM

बेह्तरीन अभिव्यक्ति .आपका ब्लॉग देखा मैने और नमन है आपको
और बहुत ही सुन्दर शब्दों से सजाया गया है लिखते रहिये और कुछ अपने विचारो से हमें भी अवगत करवाते रहिये.

http://madan-saxena.blogspot.in/
http://mmsaxena.blogspot.in/
http://madanmohansaxena.blogspot.in/

Post a Comment

Note : अपनी प्रतिक्रिया देते समय कृपया संयमित भाषा का इस्तेमाल करे।

▬● (my business sites..)
[Su-j Health (Acupressure Health)]http://web-acu.com/
[Su-j Health (Acupressure Health)]http://acu5.weebly.com/
.

Related Posts with Thumbnails