बेघर अरमान


बेघर अरमान


अरमानों का क्या है जी.......
वो तो होते ही हैं बाजारों के खैरख्वाह......
इन्हें हावी न होने दो दिल पर........
उनका बेघर होना फिर वक्ती रस्म रह जाना है.......

Jogendra Singh ( जोगेन्द्र सिंह ) 11-04-2012
.
बेघर अरमानSocialTwist Tell-a-Friend

Comments

One response to “बेघर अरमान”

expression said...
16 April 2012 at 4:45 PM

बहुत बढ़िया.........................

सादर.

Post a Comment

Note : अपनी प्रतिक्रिया देते समय कृपया संयमित भाषा का इस्तेमाल करे।

▬● (my business sites..)
[Su-j Health (Acupressure Health)]http://web-acu.com/
[Su-j Health (Acupressure Health)]http://acu5.weebly.com/
.

Related Posts with Thumbnails