कानून के रखवाले

.

06 अगस्त 2010 के दिन मैं आगरा में था...
अचानक एक शानदार वाकया सामने आ गया जिसमें कानून के दो रखवाले किसी तीसरे के साथ ट्रिपल सवारी का आनंद ले रहे थे...
जिस मोटर-साईकल पर ये तीनों सवार थे उसका नंबर है - UP80-BJ - 0639

अब मेरा सवाल है कि जिन्हें कानून का प्रहरी बनाकर जनता से कानून पालित करवाने हेतु रखा गया है वे स्वयं जब नियम-कायदे तोड़ते नज़र आ जाएँ तो उसके लिए हमारे कानून में क्या प्रावधान है... और अगर उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही हो सकती है तो क्यूँ अधिकतर पुलिस वाले ही कानून तोड़ने में संलिप्त नज़र आते हैं.....?

व्यवस्था के रक्षक ही जब भक्षक बन जाएँ तो आम-जन पार कैसे पाए.....?

_____ जोगेन्द्र सिंह Jogendra Singh ( 28-October-2010 )



Photography by :- Jogendra Singh
Place :- Agra ( near police lines ) ( 06-अगस्त-2010 )

.
कानून के रखवालेSocialTwist Tell-a-Friend

Comments

8 Responses to “कानून के रखवाले”

28 October 2010 at 1:31 PM

इन्हीं सबके रहते देश की ये दुर्दशा हुई है . हाथ बांधे हिन्दुस्तान ये तमाशा कब तक देखेगा .. पता नहीं .
एक जागरूक पोस्ट के लिए बधाई .

28 October 2010 at 1:50 PM

धन्यवाद अपर्णा जी.......

prakash said...
29 October 2010 at 7:47 AM

wah ,solid proof ,for action ,but is there any one who do so ?

Rahul said...
29 October 2010 at 11:02 AM

Isi tarah ke pryasson se hm kuch revolution kar payenge

babanpandey said...
31 October 2010 at 1:46 PM

रक्षक ही भक्षक ...वाली कहावत चरितार्थ करती हुई फोटो ....बहुत खूब

19 November 2010 at 11:51 AM

धन्यवाद ► प्रकाश जी......

19 November 2010 at 11:51 AM

शुक्रिया ► राहुल जी......

Post a Comment

Note : अपनी प्रतिक्रिया देते समय कृपया संयमित भाषा का इस्तेमाल करे।

▬● (my business sites..)
[Su-j Health (Acupressure Health)]http://web-acu.com/
[Su-j Health (Acupressure Health)]http://acu5.weebly.com/
.

Related Posts with Thumbnails