मुस्कराहट का एक पल / हास्य

●  मुस्कराहट का एक पल / हास्य 

● केवल सोच भर का फर्क होता है वरना बुरा कुछ नहीं होता...... यदि रूखे-सूखे से जीवन में किसी प्रकार मुस्कराहट का एक पल भी नसीब हो जाए तो समझो जीवन में एक छोटी सी उपलब्धि को पा लिया...... वरना पैदा होकर मरने का इंतजार तो सभी करते हैं........

.
● हास्य के स्तर को लेकर कोई गलत नहीं होता लेकिन एक सच सबसे बड़ा है और वो ये कि जिस तरह उँगलियाँ नाना-आकार में होती हैं वैसे ही लोग भी भिन्न-२ प्रकार के होते हैं...... कुछ लोग हास्य के उस स्तर तक पहुँच ही नहीं पाते जिसपर कि कथित प्रबुद्ध लोग हास्य को समझते हैं..... यदि आमजन को हास्य से परिचित कराना हो तो इसके लिए उन्हें उन्ही के स्तर से उठाते हुए ऊपर की ओर ले जाना पड़ता है, वरना हम अकेले ही हँसते नजर आते हैं..... और अकेले हँसना कैसा होता है इसे कौन नहीं समझता.........

जोगी...
मुस्कराहट का एक पल / हास्यSocialTwist Tell-a-Friend

Comments

One response to “मुस्कराहट का एक पल / हास्य”

Post a Comment

Note : अपनी प्रतिक्रिया देते समय कृपया संयमित भाषा का इस्तेमाल करे।

▬● (my business sites..)
[Su-j Health (Acupressure Health)]http://web-acu.com/
[Su-j Health (Acupressure Health)]http://acu5.weebly.com/
.

Related Posts with Thumbnails