★ आँसू और मुस्कान

..... ★ आँसू और मुस्कान 

आँसू और मुस्कान दोनों एक दूसरे के पूरक भी तो हैं........ मुस्कान जब दिल से निकले किसी गहरी बात पर तब वह भावों के साथ दो बूँद आँसू भी ले आती है और अगर आँसू कुछ ज्यादा ही हो जाएँ तब भी उन्हें छिपाने के लिए मुस्कान की चादर तान ली जाती है..... 

..... ★ जोगी ..... :-))
.
★ आँसू और मुस्कानSocialTwist Tell-a-Friend

Comments

8 Responses to “★ आँसू और मुस्कान”

pravesh soni said...
25 January 2011 at 2:20 PM

कितने अल्फाज अनकहे रह जाते हे
कितने दर्द अनसहे रह जाते हे
अक्सर लोग भीगी पलके ही देखते हे ..
कितने अश्क हंसी की ओंट में छिप जाते हे

26 January 2011 at 11:17 AM

आप सब को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएं.
सादर
------
गणतंत्र को नमन करें

29 January 2011 at 9:43 AM

प्रवेश ,,, बहुत खूबसूरत शब्द और पंक्तियाँ......

29 January 2011 at 9:43 AM

एहसास जी ,,, धन्यवाद दोस्त.........

29 January 2011 at 9:44 AM

आपको भी शुभकामनायें , यशवंत जी........

29 January 2011 at 9:44 AM

आना ,,, धन्यवाद दोस्त......

Post a Comment

Note : अपनी प्रतिक्रिया देते समय कृपया संयमित भाषा का इस्तेमाल करे।

▬● (my business sites..)
[Su-j Health (Acupressure Health)]http://web-acu.com/
[Su-j Health (Acupressure Health)]http://acu5.weebly.com/
.

Related Posts with Thumbnails