अंजाम-ए-दिल




 पीते हैं वे दर्द भागने को, मैं पीता हूँ दर्द बुलाने को..
फर्क बस नाम ही का है, अंजामे दिल जुदा नहीं होता..




_____जोगेंद्र सिंह "Jogendra Singh" ( 29 मई 2010_04:50 pm )





.
अंजाम-ए-दिलSocialTwist Tell-a-Friend

Comments

2 Responses to “अंजाम-ए-दिल”

17 June 2010 at 10:20 AM

@ प्रति भैय्या.. !! क्या बात है अकेले-अकेले..!! गलत बात..

Post a Comment

Note : अपनी प्रतिक्रिया देते समय कृपया संयमित भाषा का इस्तेमाल करे।

▬● (my business sites..)
[Su-j Health (Acupressure Health)]http://web-acu.com/
[Su-j Health (Acupressure Health)]http://acu5.weebly.com/
.

Related Posts with Thumbnails