संवेदना बनाम संवेदना.. !!

( This photo is clicked by Jogendra Singh..)

खड़ा है वह सड़क किनारे
बाल बढ़े दाढ़ी अस्त-व्यस्त
किसी ने कहा पागल है
गुज़र गए लोग कतरा कर
कोई ज़ुमला उछालते हुए
क्या फर्क पड़ता है
कुछ शब्द ही तो कहने थे
बहुत आसान है कुछ कह देना
बनिस्पत मदद कर देने के
किसी ने न सोचा
उस बेबस के बारे में
क्या संवेदना हैं उसकी ?
क्या हैं ज़रूरत उसकी ?
बिन संवेदना जन जी रहे हैं
इंसानियत पुस्तक की वस्तु बन
झलक दिखलाती कभी कभी

आज फिर सड़क किनारे
खड़ा नहीं अब पड़ा हुआ है
फिर गुज़र गए लोग कतरा कर
कोई ज़ुमला उछालते हुए
क्या फर्क पड़ता है
कुछ शब्द ही तो कहने थे
एक कान्धा ना मिला
पागल की अर्थी को
म्युनसिपैलिटी की गाडी का
इंतजार उसे अब आने का है
जैसे कुत्तों को ले जाते
उसे भी अब ले जाना है

अब शायद नहीं गुज़र रहे जन
बने हैं भीड़ कतरा कर उससे
संवेदना अब भी वांछित है
बिन संवेदना जन जी रहे हैं
घंटे दो घंटे बात करेंगे
फिर चल देंगे अपनी राह

_____जोगेंद्र सिंह ( 18 अप्रैल 2010___09:29 pm )

(( Follow me on facebook >>> http://www.facebook.com/profile.php?id=100000906045711&ref=profile# ))
संवेदना बनाम संवेदना.. !!SocialTwist Tell-a-Friend

Comments

3 Responses to “संवेदना बनाम संवेदना.. !!”

21 April 2010 at 1:50 PM

जोगेंद्रजी,
आपकी सभी कवितायें अच्छी लगीं,
खासतौर पे उनके साथ Attatched pictures...
आपके पास काफी अच्छा collection है!
आपकी कविताओं में भावनाएं हैं,
संवेदनाएं हैं जो काव्य का सबसे ज़रूरी
व महत्वपूर्ण पहलू है!

22 April 2010 at 5:36 PM

Jogi,
you are simply superb. The way you connect with people is amazing. Hats off to you. The poem is a sad note of miserable life which we all see and observe in day to day life but ignore it. The poet has done a wonderful job to connect the feelings of the reader, the poet himself and the present world. I love to read his poems.

prakriti said...
29 April 2010 at 8:57 AM

जोगी जी दो बातें महतवपूर्ण होती हैं कवी के लिये,
भावों की सरिता और शब्दों का कौशल,
शब्दों और व्याकरण की पटुता और सटीक विलक्छ्न प्रयोग किया है आपने अपनी कवितावों में!
जितनी तारीफ करूँ कम है, शब्द नहीं हमारे पास हम सब कों कीमती कविता रूपी तोफा देने के लिये
बहुत बहुत आभार!

Post a Comment

Note : अपनी प्रतिक्रिया देते समय कृपया संयमित भाषा का इस्तेमाल करे।

▬● (my business sites..)
[Su-j Health (Acupressure Health)]http://web-acu.com/
[Su-j Health (Acupressure Health)]http://acu5.weebly.com/
.

Related Posts with Thumbnails