रिश्ता ही क्या है तेरा मेरा..?

( dis photo is not clicked by me...)


ना आ रहा है समझ है रिश्ता ही क्या तेरा मेरा,
हूँ कौन मैं और कौन है तू आ बैठी जीवन में मेरे,
क्या सोच रहा मन मचल रहा उद्वेलित सा क्यूँ है,
सोच रहा क्या रखूँ नाम अनजाने से इस नाते का,
होता प्रतीत अलग थलग सा स्थापित उन नातों से,
होती मिश्र अनुभूति पूर्व स्थापित उन रिश्तों की,
फिर भी जाने क्यूँ लगती अनजानी निराली सी,
मन तरंग मोरी क्यों मचल जाती हुलर भी जाती,
जीवन में मेरे बनके बयार आई है.. इक झोंका बन,
क्या और क्यूँ है तू .. है अस्तित्व भी क्या मेरा भी,
ना चाहूँ ये मंथन सा मन में.. अब उठ रहा क्यूँ है,
बन मन मयूरी नाच उन्मत्त अब दिखा रही क्यूँ है,
ग़र चाहूँ ना सोचूं मैं.. यह सोच दिल उदास क्यूँ है,
छोड़ मंथन अब निश्छल मन पाता आनंदित भाव,
हाँ...!! है शायद संध्या यही इस जीवन दिवस की,
छाँव में जिसकी सकून दीखता है निर्मल कोमल सा,
करता शांत उद्वेलना इक अहसास वो शायद यही है,
आदत सी हो गयी है तेरी जाने से तेरे डरता क्यूँ हूँ,
गिरी पलकें झपक कर ख्वाब बने अब दिल में क्यूँ हैं,
अब भी ना आ रहा समझ है रिश्ता ही क्या तेरा मेरा !!

___________जोगेंद्र सिंह ( 07 अप्रैल 2010 ___ 09:45 pm )

रिश्ता ही क्या है तेरा मेरा..?SocialTwist Tell-a-Friend

Comments

4 Responses to “रिश्ता ही क्या है तेरा मेरा..?”

22 April 2010 at 9:45 PM

Cute pic, and the feelings here are soft and sweet!

prakriti said...
29 April 2010 at 7:42 AM

प्यार है अनमोल धन स्वीकार कर
मत कभी इस सत्य से इनकार कर
क्या पता भगवान कब किसको मिले,
बस अभी इंसान से तू प्यार कर।

5 July 2011 at 2:47 AM

धन्यवाद ▬● अपर्णा जी....... :)

5 July 2011 at 2:47 AM

बहुत सुन्दर ▬● प्रकृति जी...... :)

Post a Comment

Note : अपनी प्रतिक्रिया देते समय कृपया संयमित भाषा का इस्तेमाल करे।

▬● (my business sites..)
[Su-j Health (Acupressure Health)]http://web-acu.com/
[Su-j Health (Acupressure Health)]http://acu5.weebly.com/
.

Related Posts with Thumbnails